यूपी: पहले चरण में हुई बंपर वोटिंग, 73 सीटों पर रिकॉर्ड 64 फीसदी मतदान

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के पहले चरण में मतदाताओं ने रिकॉर्ड वोटिंग की। पश्चिमी यूपी के 15 जिलों की 73 सीटों पर शनिवार को 64.22 फीसदी मतदान हुआ जो साल 2012 से पांच फीसदी अधिक है। पिछले विधानसभा चुनाव में इन 73 सीटों पर औसतन 59 फीसदी मतदान हुआ था।

गौतमबुद्धनगर में ज्यादा वोट पड़े
राज्य के मुख्य निवार्चन अधिकारी टी़ वेंकटेश ने मतदान खत्म होने के बाद बताया कि गौतमबुद्धनगर की तीन सीटों पर 59.17 और गाजियाबाद की पांच सीटों पर 58.10 फीसदी मतदान हुआ। वर्ष 2012 में गौतमबुद्धनगर में 57.16 और गाजियाबाद में 58.78 फीसदी मतदान हुआ था।

अधिकारी ने बताया कि आगरा में 63.88, अलीगढ़ में 64.66, बागपत में 64.99, बुलंदशहर में 64.65, एटा में 64.93, फिरोजाबाद में 63.59, हापुड़ में 65.67, हाथरस में 64.10, कासगंज  में 64.83, मथुरा में 65.39, मेरठ में 66.00, मुजफ्फरनगर में 65.50 और शामली में 67.12% मतदान हुआ।

इन दिग्गजों का भविष्य ईवीएम में बंद

नोएडा सीट पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह, कैराना सीट से भाजपा सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह, मथुरा सीट से भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा और सरधना सीट से भाजपा के विवादास्पद विधायक संगीत सोम।

उत्तर प्रदेश के प्रभारी उप चुनाव आयुक्त विजय देव ने मतदान को अनुकरणीय बताया और कहा कि यह 15 फरवरी से आठ मार्च के बीच होने वाले चुनाव के बाकी छह चरणों के लिए रूझान तय करेगा। उन्होंने हिंसा की घटनाओं की तरफ संकेत करते हुए कहा कि हालांकि कुछ जगहों पर भीड़ जमा हो गई, समय रहते पुलिस द्वारा की गयी कार्रवाई से सुनिश्चित हुआ कि चुनाव संबंधी हिंसा ना हो और कोई हताहत ना हो।

देव ने संवाददाताओं से कहा, पुलिस ने लोगों को भागने पर मजबूर कर दिया लेकिन चुनाव संबंधी हिंसा, या किसी के हताहत होने की घटना नहीं हुई। पंद्रह जिलों में हुए चुनाव के दौरान 42 ईवीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन्स) और 52 वीवीपीएटी (वेरिफियेबल पेपर ऑडिट ट्रेल) मशीनें बदलनी पड़ी। अधिकारी ने कहा कि इस तरह के मामले पूर्व के चुनावों की तुलना में कम थे।

आयोग के अधीन काम करने वाली प्रवर्तन एजेंसियों ने 9.56 करोड़ रुपये की नकदी, 14 करोड़ रपये की कीमत की 4.44 लाख लीटर शराब जब्त की ताकि मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए उनका इस्तेमाल ना हो। एजेंसियों ने 96 लाख रुपये से अधिक कीमत के मादक पदार्थ, 14 करोड़ रुपये का सोना, चांदी बरामद किया। देव ने बताया कि आज के चुनाव में सात जगहों पर लोगों ने मतदान का बहिष्कार किया जिनमें अधिकारियों ने छह मामलों में हस्तक्षेप कर उनका हल कर दिया।

इन मामलों में उचित मुआवजा एवं सड़कों का निर्माण प्रमुख मुद्दे थे। जहां कवि नगर (गाजियाबाद), नंगल कोटी (फिरोजाबाद), छोहरी गांव और मजरा (मथुरा) में लोगों को मतदान के लिए मना लिया गया, मथुरा के भरत नगरिया में लोगों ने मतदान नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *