चेहरा बनेगा आधार की पहचान, 1 जुलाई से फेस रिकग्निशन से करवा सकेंगे सत्यापन

नई दिल्ली। आधार कार्ड की सुरक्षा को लेकर उठ रहे सवालों के बीच यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया(UIDAI) ने 1 जुलाई से आधार नंबर के विरिफिकेशन के लिए नई सुविधा शुरू करने का ऐलान किया है। इसके बाद अब आधार यूजर फेस रिकग्निशन की मदद से भी अपने आधार नंबर का सत्यापन करवा सकेंगे।

यह सुविधा इसी साल जुलाई में शुरू की जाएगी। खबरों के अनुसार यह फैसला तब आया है जब फिंगरप्रिंट के माध्यम से आधार वेरिफिकेशन की शिकायतें लगातार सामने आ रही थीं। खासतौर पर वरिष्ठ नागरिकों के साथ यह दिक्कत ज्यादा थी क्योंकि उम्र के साथ उनके फिंगरप्रिंट भी कमजोर हो गए थे।

हालांकि, फेस रिकग्निशन से प्रमाणिकरण भी फ्यूजन मोड में होगा, मसलन वन टाइम पासवर्ड या फिर बायोमेट्रिक। यूआईडीएआई द्वारा जारी एक बयान के अनुसार वो बायोमैट्रिक डिवाइस उपलब्ध करवाने वालों के साथ बात करके सर्टिफाइड मोबाइलों में फेस इंटिग्रेशन मोडेलिटी उपलब्ध करवाएगी।

इस नई सुविधा के आने के बाद लोगों को अपना आधार नंबर वेरिफाइ करवाने का एक और तरीका मिल जाएगा जिससे इसकी सुरक्षा बढ़ जाएगी। मसलन अगर किसी के फिंगरप्रिंट उसके आधार कार्ड से मैच नहीं खा रहे हैं तो वो अपने मोबाइल पर वन टाइम पासवर्ड भेजकर चेहरा स्कैन करवाते हुए आधार नंबर वेरिफाइ कर सकता है।

Related posts

Leave a Comment