सपा-कांग्रेस गठबंधन से नाराज मुलायम, कहा- नहीं करूंगा प्रचार

नई दिल्ली,सपा संरक्षक मुलायम सिहं यादव कांग्रेस के साथ समाजवादी पार्टी के गठबंधन से खफा है। मुलायम ने रविवार को अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि वह गठबंधन के लिए चुनाव प्रचार नहीं करेंगे।

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी यूपी में अकेले चुनाव लड़ने और जीतने में सक्षम है। इसलिए पार्टी को किसी के साथ गठबंधन की कोई जरूरत नहीं थी। मैंने पहले भी प्रदेश में अकेले दम पर चुनाव लड़ा और बहुमत के साथ सरकार बनाई है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की साझा प्रेस कांफ्रेंस के बाद संयुक्त रोड शो निकालने से भी मुलायम सिंह नाखुश दिखे। उन्होंने कहा कि मैं इस गठबंधन के पूरी तरह खिलाफ हूं। समाजवादी पार्टी ने हमेशा कांग्रेस का विरोध किया है, क्योंकि कांग्रेस ने अपने 70 साल के शासन में देश को पीछे ले जाने का ही काम किया है। लिहाजा वे इस गठबंधन के समर्थन में कहीं भी प्रचार करने नहीं जाएंगे।

‘हमारे नेताओं को नुकसान होगा’
मुलायम सिंह यादव ने कहा कि इस गठबंधन से हमारी पार्टी के नेताओं को नुकसान होगा। हमारे जो नेता क्षेत्र में काम कर रहे थे, उनके टिकट कट गए तो अब वह क्या करेंगे? उन्होंने तो अगले पांच साल के लिए मौका गंवा दिया।

गठबंधन से बनी ‘गांठ’
गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी में पिछले कई महीनों से चल रहा विवाद धीरे-धीरे सुलझने की ओर बढ़ रहा था। तभी कांग्रेस के साथ हुए गठबंधन ने फिर रिश्तों में ‘गांठ’ बनाने का काम कर दिया। दरअसल, सपा का घोषणा-पत्र जारी करने के मौके पर मुलायम सिंह मंच से नदारद रहे थे। लेकिन बाद में अखिलेश ने पत्नी डिंपल यादव और आजम खां के साथ पार्टी कार्यालय में मुलायम सिंह से मुलाकात की थी। इसके बाद सभी मुस्कुराते हुए बाहर निकले तो लगा सबकुछ सामान्य होने की राह पर है। लेकिन सपा-कांग्रेस गठबंधन ने एक बार फिर इस तल्खी को बढ़ा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *