एयरसेल, मैक्सिस मामलों में मारन बंधु बरी

नई दिल्ली, दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट स्थित एक विशेष कोर्ट ने एयरसेल मैक्सिस मामले में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय की ओर से दर्ज मामलों में पूर्व दूरसंचार मंत्री दयानिधि मारन, उनके भाई कलानिधि मारन और अन्य को गुरुवार को बरी कर दिया गया है।

विशेष न्यायाधीश ओपी सैनी को आरोप तय करने और मारन बंधुओं तथा अन्य की जमानत याचिकाओं पर 24 जनवरी को फैसला सुनाना था, लेकिन बाद में इसे दो फरवरी तक के लिए टाल दिया था। सभी आरोपियों ने आरोपों से इनकार किया है और उन्होंने जमानत याचिका दाखिल कर रखी हैं।

आरोप तय करने के लिए हुई बहस में विशेष सरकारी वकील आनंद ग्रोवर ने दावा किया था कि दयानिधि मारन ने चेन्नई के टेलिकॉम प्रमोटर सी. शिवशंकर पर 2006 में एयरसेल और उसकी सहायक फर्मो में अपनी हिस्सेदारी मलेशियाई कंपनी मैक्सिस ग्रुप को बेचने का दबाव बनाया था।

हालांकि दयानिधि ने इन आरोपों का सिरे से खंडन किया था। दयानिधि के वकील ने कहा कि अक्टूबर 2005 में ही एयसेल और मैक्सिस के बीच समझौता हो चुका था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *