कांकाणी हरिण शिकार प्रकरण में अंतिम बहस एक मार्च से

जोधपुर। बहुचर्चित कांकाणी हरिण शिकार प्रकरण में आगामी एक मार्च से अंतिम बहस होगी। बुधवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (जोधपुर जिला) दलपतसिंह राजपुरोहित की अदालत में इसकी सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान बचाव पक्ष की तरफ से किसी तरह के साक्ष्य पेश नहीं किए गए। इस पर अदालत ने एक मार्च से अंतिम बहस के आदेश दिए। मामले में बॉलीवुड स्टार सलमान खान के अलावा सैफ अली खान, सोनाली बेन्द्रे, नीलम व तब्बू भी आरोपी है। गत 27 जनवरी को हुई सुनवाई में बयान मुल्जिम में सभी सितारों ने आरोप नकार दिए थे जिसके बाद सलमान खान ने बचाव में साक्ष्य सफाई पेश करने की मोहलत मांगी थी। कोर्ट ने इसकी अनुमति देते हुए 15 फरवरी तक अवसर दिया था। अन्य सितारों ने अपने बचाव में और कोई और सफाई पेश नहीं करने का कथन किया था। गत सुनवाई पर सभी सितारों ने कहा था कि वन विभाग ने पब्लिसिटी पाने के लिए उन्हें फंसाया है। शिकार की किसी घटना से उनका कोई वास्ता नहीं है। वे उन दिनों केवल अपनी फिल्म की शूटिंग में व्यस्त रहते थे।

मामले में सलमान खान के खिलाफ दो हरिणों का शिकार करने और सैफ अली खान, सोनाली बेन्द्रे, नीलम कोठारी, तब्बू व दुष्यंत के खिलाफ उन्हें शिकार के लिए उकसाने आरोप है। बुधवार को हुई सुनवाई में बचाव पक्ष की ओर से किसी तरह का साक्ष्य पेश नहीं करने पर एक मार्च से अंतिम बहस के आदेश दिए गए। फिल्म अभिनेता सलमान खान, सैफ अली खान, अभिनेत्री सोनाली बेन्द्रे, नीलम, तब्बू सहित अन्य पर कांकाणी गांव की सरहद पर दो हरिणों के शिकार करने का आरोप है। वर्ष 1998 में फिल्म हम साथ साथ है की शूटिंग के लिए पूरी यूनिट जोधपुर के लूणी में थी और इसी दौरान कांकाणी सरहद पर यह घटना हुई थी। वर्ष 1998 में 1 और 2 अक्टूबर की मध्यरात्रि को शिकार किया गया था और इन सभी पर शिकार का आरोप लगा था। इसको लेकर वन विभाग ने मुकदमा दर्ज करवाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *