गर्लफ्रेंड बन वसूलती थी करोड़ों-ये लेडीज रईसों को यूं बनाती थी बेवकूफ

जयपुर।हाईप्रोफाइल ब्लैकमेलिंग गिरोह का खुलासा दिसंबर में हुआ था। तीन महीने में ही चार गिरोह का खुलासा हो चुका है। शनिवार को एसओजी ने लोगों को दुष्कर्म के केस में फंसाने की धमकी देकर उनसे पैसे हड़पने वाले एक और गिरोह का खुलासा किया है। गिरोह ने 1 साल में 6 रईसों से 60 लाख रु. वसूले थे। वहीं दूसरे गिरोह के सरगना नवीन देवानी और एनआरआई रवनीत कौर ने एसओजी के खुलासे से पहले ढाई साल में लोगों को दुष्कर्म के केस में फंसाने की धमकी देकर 2 करोड़ रुपए वसूल लिए थे।मसाज पार्लर में संबंध बना वसूलती थी करोड़ों…

एसओजी ने दुष्कर्म के झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर मार्बल व्यवसायी से 10 लाख रुपए हड़पने वाली दो महिलाओं समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।
– आरोपी गोविंदगढ़ निवासी महेश कुमार यादव, मालवीयनगर निवासी वंदना भट्ट आैर मुरलीपुरा निवासी पूनम कंवर ने पिछले एक साल में ब्लैकमेलिंग की छह वारदात करना कबूल किया है।
– आरोपियों ने एक-एक आरोपी से राजीनामा करने के बदले 10 से 15 लाख लिए। मामले में मुख्य आरोपी एडवोकेट अनिल यादव अभी फरार है।
राजीनामा के बदले हर व्यक्ति से लेते थे 10 से 15 लाख
– एसपी संजय श्रोत्रिय ने बताया कि गिरोह का खुलासा होने के बाद मार्बल कारोबारी ने वंदना व पूनम के खिलाफ अनिल व महेश यादव के माध्यम से ब्लैकमेल कर 10 लाख लेने की शिकायत की थी।
– जांच एडिशनल एसपी करन शर्मा के निर्देशन में हुई। शनिवार को महेश यादव, वंदना भट्ट व पूनम को गिरफ्तार कर लिया।
– जांच में आया कि आरोपी युवतियां मसाज पार्लर में बुलाकर फंसा लेती थी और संबंध बनाने के बाद में थाने पर पहुंच लोगों के खिलाफ शिकायत दे देती थी।
– इसके बाद आरोपी अनिल यादव व महेश यादव संबंधित व्यक्ति को फोन करते थे और पुलिस थाने में हुई शिकायत पर राजीनामा कराने की बात करते थे।
– राजीनामा कराने के लिए महेश व अनिल लोगों से 10 से 15 लाख रुपए की डिमांड करते थे। सौदा होने के बाद आरोपी संबंधित व्यक्ति को शपथ पत्र देकर राजीनामा कर लेते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *