मुलायम सिंह ने कहा, मैं बीमार नहीं, समाजवादी पार्टी को बूढ़ी नहीं होने दूंगा

तकरीबन 30 मिनट के भाषण में मुलायम ने भाजपा, बसपा और प्रधानमंत्री पर एक शब्द नहीं बोला।

परवेज अहमद (इटावा)। जसवंतनगर की जिस धरती ने मुलायम सिंह यादव को धरती पुत्र बनाया, शनिवार को उसी के बाशिंदों से जब वह मुखातिब हुए तो अपने बेटे व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का नाम लिए बगैर भाई शिवपाल यादव के लिए वोट मांगा। चिर परिचित ‘चरखा दांव’ का इस्तेमाल करते हुए घर व बाहर के लोगों को जवाब भी दिया। कहा, मैं बीमार नहीं हूं, अमेरिका, इंग्लैंड के डॉक्टरों ने रोगमुक्त होने का प्रमाण पत्र दिया है।

यह बात उन लोगों को जवाब है, जो जब-तब यह कहते हैं कि ‘नेताजी (मुलायम सिंह) का स्वास्थ्य अच्छा नहीं है, उन्हें कुछ लोग गुमराह कर लेते हैं।’ 1परिवार के महासंग्राम के दौर में सात दिसंबर को मुलायम सिंह यादव ने बरेली में रैली की थी, उस समय चुनाव की तारीखों का एलान नहीं हुआ था। बाद के दो माह के अंतराल में सपा में संगठन से लेकर नीतियों तक में बदलाव आया है। मुलायम खुद चुनाव प्रचार को लेकर सीधी बात करने से बचते रहे। मगर 11 फरवरी को वह जसवंतनगर के उस ताखा गांव में पहुंचे जो 1996 तक उनका विधानसभा क्षेत्र था, बाद में यह इलाका उनके संसदीय क्षेत्र का हिस्सा भी रहा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *