व्यापारियों को सस्ते कर्ज दें बैंक: रिजर्व बैंक

नई दिल्ली
कंपनियों को सस्ते कर्ज देने की सिफारिश करते हुए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल ने शनिवार को कहा कि बैंकों को रिटेल सेक्टर के अलावा भी कम ब्याज दरों का लाभ देना चाहिए। उन्होंने कहा कि RBI द्वारा पॉलिसी रेट्स में कटौती के साथ-साथ चालू और जमा खातों में नवंबर-दिसंबर में आए भारी जमा के कारण बैंकों को लाभ हुआ है।

पटेल ने कहा, ‘बैंकों द्वारा और कम ब्याज दर पर कर्ज दिए जा सकते हैं। हाउजिंग, पर्सनल आदि पर उसी बैंक में दरों में कटौती अन्य सेक्टरों की तुलना में अधिक है।’ बजट के बाद RBI बोर्ड को वित्त मंत्री अरुण जेटली के पारंपरिक संबोधन के बाद उर्जित पटेल ने पत्रकार वार्ता में यह बात कही। सरकार और RBI का यह मानना है कि ब्याज दरों में कमी का लाभ बैंक अपने पास रख रहे थे। दिसंबर में केंद्र सरकार द्वारा टोके जाने पर बैंकों ने अपनी दरों में 90 बेसिस पॉइंट की कटौती की लेकिन तब भी अन्य सेक्टरों की अपेक्षा होम लोन की दरों में अधिक कटौती की गई थी।

वहीं, बैंककर्मियों का कहना है कि वह रिटेल सेगमेंट पर अधिक ध्यान दे रहे हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि कम दरों से मांग में बढ़ोतरी होगी जबकि कॉरपोरेट सेक्टर अतिरिक्त उत्पादन क्षमता और भारी कर्ज से घिरा हुआ है। वहीं, RBI द्वारा ब्याज दरों में कमी किए जाने के बारे में पूछे जाने पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा, ‘हर वित्त मंत्री कम ब्याज दर रखना चाहता है लेकिन आखिर में हमें रिजर्व बैंक जो भी निर्णय लेता है, उसका सम्मान करना होता है।’ जेटली ने यह भी बताया कि बैंकों का कर्ज नहीं लौटाने के लिए सरकार ने एक कानूनी फ्रेमवर्क भी तैयार कर लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *