कमला मिल्स अग्निकांडः BMC की टूटी नींद, चलाए अवैध निर्माण के खिलाफ हथौड़े

मुंबई। कमला मिल्स कंपाउंड के रेस्टोरेंट में लगी आग में एक दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत के बाद बीएमसी की नींद टूटी। शनिवार को बीएमएसी ने इस इलाके में हुए अवैध निर्माण के खिलाफ बड़ा अभियान चलाया।

बीएमसी की अलग-अलग 25 टीमों ने लोअर परेल में रघुवंशी मिल कंपाउंड में हुए अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई की है। यहां अवैध निर्माण को गिराया गया। वहीं एक टीम ने कमला मिल्‍स कंपाउंड में हुए अवैध निर्माण पर हथौड़ा चलाया। वहीं बीएमसी ने इस मामले में जांच भी शुरू कर दी है और नियमों का उल्लंघन कर निर्माण करने वालों के खिलाफ और कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इस बीच मुंबई पुलिस ने इस घटना के बाद सभी आरोपियों के लिए लुक आउट नोटिस जारी किया है। आरोपियों पर गैरइरादतन हत्या के साथ-साथ आईपीसी की और भी कई धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

मुंबई पुलिस ने पब एवं रेस्टोरेंट चलानेवाली कंपनी सी ग्रेड हॉस्पिटलिटी के हृतेश संघवी, जिगर संघवी एवं अभिजीत मनका को हिरासत में ले लिया है। इन पर गैरइरादतन हत्या के साथ-साथ आइपीसी की और भी कई धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। हादसे के बाद दोनों पब संचालकों ने आगजनी का ठीकरा एक-दूसरे पर फोड़ना शुरू कर दिया। दोनों संचालकों का कहना है कि आग दूसरे पब से उनकी तरफ आई। उनका कहना है कि उनके पास हर तरह की मंजूरी थी और सुरक्षा मानकों का पालन किया जा रहा था।

गुरुवार देर रात हुआ पब में हादसा-

गुरुवार की आधी रात करीब 12.30 बजे आग कमला मिल कंपाउंड के अंदर स्थित इमारत कमला ट्रेड हाउस की छत पर चल रहे ‘1-एबव’ पब में भड़की। कुछ ही मिनटों में आग ने इसी छत के दूसरे हिस्से में चलनेवाले दूसरे पब ‘बिस्ट्रो द मोजो’ को भी चपेट में ले लिया। दोनों पबों पर बांस एवं प्लास्टिक तानकर छाया की गई थी, जिसे आग पकड़ते देर नहीं लगी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार दोनों पबों में उस समय करीब 200 लोग मौजूद थे। बाहर निकलने का रास्ता सिर्फ एक था।

Related posts

Leave a Comment