जून से पहले संविदा शिक्षक चयन परीक्षा कराने की तैयारी

भोपाल। चुनावी साल में राज्य सरकार 31 हजार से ज्यादा बेरोजगारों को संविदा शिक्षक बनाने की तैयारी कर रही है। इसमें अतिथि शिक्षकों को भी प्राथमिकता दी जाना है। स्कूल शिक्षा विभाग ने भर्ती नियमों में संशोधन कर प्रस्ताव शासन को भेज दिया है। अब जून से पहले चयन परीक्षा कराने की कोशिश है। शासन अधिसूचना जारी होने के बाद प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) को परीक्षा की तारीख तय करने का प्रस्ताव भेजेगा।

प्रदेश में शिक्षकों के 60 हजार से ज्यादा पद खाली हैं। फिर भी वर्ष 2013 से संविदा शिक्षक परीक्षा टल रही है। सरकार ने विधानसभा चुनाव से ठीक पहले परीक्षा कराने का निर्णय लिया था और तभी से लगातार प्रक्रिया चल रही है। अब तक करीब पांच बार भर्ती नियमों में संशोधन किया जा चुका है।

वैसे विभाग का दावा है कि इस बार भर्ती नियम जारी होने के एक महीने के अंदर परीक्षा करा लेंगे, लेकिन ये पीईबी की तैयारी पर निर्भर होगा। यह परीक्षा 31 हजार 658 पदों के लिए होगी। उल्लेखनीय है कि इससे पहले वर्ष 2011 में संविदा शिक्षक परीक्षा हुई थी।

अतिथि शिक्षकों के लिए पद आरक्षित

नए नियमों में अतिथि शिक्षकों के लिए 25 फीसदी पद आरक्षित कर दिए गए हैं। वहीं उन्हें अनुभव के अंक अलग से दिए जाएंगे। जिन्हें मिलाकर मेरिट तैयार होगी और मेरिट के आधार पर भर्ती होगी।

फरवरी में परीक्षा कराने की थी तैयारी

विभाग पहले फरवरी 2018 में परीक्षा कराने की तैयारी कर रहा था, लेकिन भर्ती में अतिथि शिक्षकों को प्राथमिकता देने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की 25 फीसदी पद आरक्षित करने की घोषणा के बाद नियम संशोधन में समय लग गया। अब 15 जनवरी 2018 तक संशोधित नियम जारी होने की उम्मीद जताई जा रही है। आगे की कार्यवाही इसी के बाद शुरू होगी।

हमारी तैयारी पूरी

हमारी पूरी तैयारी है, जल्द ही संशोधित नियम जारी होंगे और परीक्षा कराई जाएगी।

– दीप्ति गौड़ मुकर्जी, प्रमुख सचिव, स्कूल शिक्षा विभाग

Related posts

Leave a Comment