प्रद्युमन हत्याकांड: आरोपी छात्र की जमानत याचिका खारिज

गुरुग्राम(सतीश): गुरुग्राम के रयान इंटरनेशनल स्कूल में मासूम छात्र प्रद्युमन के हत्या मामले में 15 दिसंबर को इस मामले में बहस हुई। इस बहस में हत्यारोपी की जमानत याचिका जुवेनाईल जस्टिस बोर्ड ने खारिज कर दी है। कोर्ट के अनुसार आरोपी किसी भी तरह की राहत का पात्र नहीं है। वहीं, सीबीआई ने आरोपी को आक्रामक और उत्तेजित बताया है।

जानकारी के मुताबिक, आरोपी छात्र ने जिस बर्बरता से वारदात को अंजाम दिया था, उस हिसाब से नाबालिग आरोपी छात्र को वयस्क अपराधियों की श्रेणी में रखा जाए या नहीं? इस विषय में आज जुवेनाईल कोर्ट में पक्ष-प्रतिपक्ष के वकीलों ने बहस की। इस बहस में आरोपी छात्र के पिता ने जमानत याचिका लगाई थी। आरोपी की जमानत याचिका को खारिज करते हुए जुवेनाइल कोर्ट ने कहा कि, आरोपी को कोई भी राहत नहीं मिलेगी।

इस बहस में सीबीआई ने आरोपी छात्र को आक्रामक और उत्तेजित बताया है। फिलहाल, यह बहस पूरी होने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। 20 दिसंबर को सुबह 10 बजे आने वाले अहम फैसले में यह पता चलेगा कि, आरोपी छात्र को वयस्क अपराधियों की श्रेणी में रखा जाए या नहीं।

उल्लेखनीय है कि 8 सितंबर को रेयान स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न की गला रेतकर बेरहमी से हत्या हुई थी। हरियाणा पुलिस ने उसी दिन स्कूल बस के कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार कर लिया था। बाद में मामला सीबीआई को सौंपा गया जिसके बाद इस सनसनीखेज हत्याकांड में बड़ा मोड़ आया। सीबीआई ने जांच के बाद स्कूल के ही 11वीं के एक छात्र को गिरफ्तार किया। सीबीआई का दावा है कि आरोपी छात्र ने पीटीएम और परीक्षा को टालने के लिए इस मर्डर को अंजाम दिया था। सीबीआई जांच से हरियाणा पुलिस की भूमिका पर गंभीर सवाल खड़े हुए। आरोपी कंडक्टर को भी जमानत मिल चुकी है।

Related posts

Leave a Comment