पनीरसेल्वम के साथ आए सांसद, शशिकला का दावा-129 विधायक उनके पक्ष में

 चेन्नई |  अन्नाद्रमुक महासचिव वीके शशिकला के साथ कुर्सी की जंग में उलझे तमिलनाडु के कार्यवाहक मुख्यमंत्री ओ़ पनीरसेल्वम के पक्ष में समर्थन बढ़ता जा रहा है। उनके साथ अब 11 सांसद आ गए हैं। इस बीच शशिकला पार्टी विधायकों को अपने पक्ष में एकजुट रखने की कोशिश में जुटी रहीं और उन्होंने विधायकों को एक रिसॉर्ट में बंधक बनाए जाने के आरोपों को बकवास करार दिया। शशिकला ने कहा कि विधायक अपनी मर्जी से रिसॉर्ट में रह रहे हैं और वो स्वतंत्र हैं।

पनीरसेल्वम ने हालांकि विधायकों को उनकी मर्जी के खिलाफ वहां रखने और प्रताड़ित किये जाने का आरोप लगाते हुए उनकी रिहाई की मांग की। रिसॉर्ट में पत्रकारों से बात करते हुए शशिकला ने आरोप लगाया कि पार्टी के कुछ विधायकों को धमकी मिली है कि उनके बच्चों का अपहरण कर लिया जाएगा, लेकिन उन्होंने अपने रिश्तेदारों से उनका ख्याल रखने को कहा है और यहां रह रहे हैं। उन्होंने कहा, यह आंदोलन के लिए उनकी प्रतिबद्धता दर्शाता है।

129 विधायकों के समर्थन का दावा

दो दिन में दूसरी बार रिसॉर्ट पहुंचीं शशिकला ने विधायकों को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें 129 विधायकों का समर्थन प्राप्त है और यह समुद्र की भांति है। उन्होंने कहा, आप 129 विधायक एक समुद्र की भांति हैं। कोई भी बांध बनाकर इन्हें रोक नहीं सकता। कोई प्रयास इस सरकार केा अस्थिर नहीं कर सकता है। कोई हमें नुकसान नहीं पहुंचा सकता है और डरने की कोई जरूरत नहीं है। शशिकला ने कहा था कि एक महिला के लिए राजनीति बेहद मुश्किल है। वो क्योंकि एक महिला हैं इसलिए उन्हें डराने की कोशिश हो रही है लेकिन वो झुकने वाली नहीं हैं।

वहीं पनीरसेल्वम ने शशिकला पर निशाना साधते हुए कहा कि वो घड़ियाली आंसू बहा रही है। उन्होंने विधायकों को रिहा करने की मांग की। शशिकला की विधायकों के साथ बैठक के बाद उन्होंने संवाददाताओं से कहा, उन्हें विधायकों को रिहा करना चाहिए जिससे वो अपने अपने क्षेत्र में जाकर लोगों से मिल सकें और एक अच्छा फैसला ले पायें। खुद को जयललिता का कट्टर वफादार बताते हुए उन्होंने कहा, पिछले 20 सालों के दौरान अम्मा ने एक बार भी मेरी बुराई नहीं की। इससे पहले शशिकला के साथ जारी जंग में उन्हें 6 और सांसदों का समर्थन मिला और उनके पक्ष की स्थिति मजबूत हुई।

पनीरसेल्वम को मिला 11 सांसदों का साथ

लोकसभा के पांच सदस्यों जयसिंह त्यागराज नाटेरजी, सेंगुटुवन, आरपी मुरूतराजा, आर पार्थिबन और एस़ राजेन्द्रन ने आज ग्रीनवेज स्थिति पनीरसेल्वम के निवास पर उनसे भेंट कर उन्हें अपना समर्थन दिया। इसके साथ ही कुर्सी की लड़ाई में अभी तक कुल 11 सांसद पनीरसेल्वम के पक्ष में आ गए हैं। राज्यसभा सदस्य आऱ लक्ष्मणन भी पाला बदलकर पनीरसेल्वम के साथ खड़े हो गए हैं। इससे नाराज शशिकला ने उन्हें पाटीर् के विल्लुपुरम प्रमुख के पद से हटा दिया है। तमिलनाडु के 234 सदस्यीय विधानसभा में अन्नाद्रमुक के पास 134 सीटें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *